देशराजस्थानराज्य

कॉन्ग्रेस हिंदू से नफरत करती है, तो यह उम्मीदवार कौन है?

देवेंद्र यादव-

अब सवाल उठता है कि क्या कॉन्ग्रेस हिंदू विरोधी है?

राजस्थान/भारत। कॉन्ग्रेस के राष्ट्रीय नेता, आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कोंग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवारों को लेकर सवाल खड़े करने के बाद एक और नया बखेड़ा खड़ा कर दिया है, कि कोंग्रेस के अंदर कुछ नेता ऐसे हैं जो हिंदुओं से नफरत करते हैं? अब सवाल उठता है कि क्या कॉन्ग्रेस हिंदू विरोधी है, अभी तक यह आरोप भारतीय जनता पार्टी के नेता कॉन्ग्रेस पर लगाते आए हैं मगर अब यह आरोप कॉन्ग्रेस के राष्ट्रीय नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम भी लगा रहे हैं!

जहां तक कोंग्रेस के द्वारा घोषित राज्यसभा के प्रत्याशियों की बात करें तो, इमरान प्रतापगढ़ी को छोड़कर बाकी तमाम प्रत्याशी हिंदू है! और यदि ब्राह्मण की बात करें तो राजीव शुक्ला, प्रमोद तिवारी, पी चिदंबरम, अजय माकन, जय राम रमेश ब्राहमण जाति से आते हैं !

राज्यसभा के कोंग्रेसी प्रत्याशियों को लेकर अलग-अलग राज्यों में कोंग्रेस के नेताओं के विरोध के स्वर सुनाई दे रहे हैं! क्या कांग्रेस ने बाहरी नेताओं को उम्मीदवार बनाकर एक और नया बखेड़ा खड़ा कर लिया हे?

यदि प्रमोद तिवारी और इमरान प्रतापगढ़ी को 2024 के लोकसभा चुनाव के मध्य नजर रखते हुए, राज्यसभा का प्रत्याशी बनाया है तो, कांग्रेस के लिए उत्तर प्रदेश में तिवारी और प्रतापगढ़ी से ज्यादा उपयोगी आचार्य प्रमोद कृष्णम होते!

क्योंकि भाजपा की तरफ से अधिकांश हिंदू संत उत्तर प्रदेश से ही आते हैं, जो भाजपा की तरफ से लोकसभा के सदस्य हैं और केंद्र में मंत्री भी हैं ! योगी आदित्यनाथ लगातार दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं! ऐसे में यदि कांग्रेस योगी आदित्यनाथ की टक्कर में आचार्य प्रमोद कृष्णम को राज्यसभा में पहुंचाती तो इससे देश में एक अच्छा मैसेज जाता और इसका लाभ कांग्रेस को मिलता। लेकिन कांग्रेस के रणनीतिकारों को किसी अन्य नेता की जगह स्वयं की पड़ी हुई थी, और उन्होंने स्वयं राज्यसभा का टिकट हथिया लिया? इसीलिए राज्यसभा के उम्मीदवारों को लेकर पार्टी के भीतर से विरोध के स्वर उठते हुए दिखाई दे रहे हैं?

जहां तक नगमा के दर्द का सवाल है, कांग्रेस के अंदर ऐसे कार्यकर्ता मौजूद हैं, जिनकी कांग्रेस के लिए काम करते हुए पिढी गुजर गई, मगर उन्हें पार्टी की तरफ से लोकसभा राज्यसभा और विधानसभा को छोड़ो मगर नगर पालिका और पंचायत राज चुनाव में वार्ड मेंबर का भी अभी तक टिकट नहीं मिला! इतना उपेक्षित होने के बाद भी वह कार्यकर्ता कांग्रेस से कभी शिकायत करता करता हुआ नहीं दिखाई देता है बल्कि वह कांग्रेस कैसे मजबूत हो हमेशा इसकी चिंता करता रहता है शायद उस कार्यकर्ता की बदौलत ही कांग्रेस आज भी देश भर में नजर आती
है!

वरिष्ठ पत्रकार देवेंद्र यादव कोटा, राजस्थान

Tags

redbharat

हर खबर पे नजर, दे सबकी खबर
Back to top button
error: Content is protected !!
Close
Close